यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (UGC) ने Ph.D और M.Phil कोर्सेज में एडमिशन लेने वाले छात्रों के लिए नया नियम जारी किया है. जहां एडमिशन लेने के लिए इंटरव्यू नहीं देना पड़ेगा. आपको बता दें, पहले Ph.D और M.Phil कोर्सेज में लिखित परीक्षा और इंटरव्यू पास करने के बाद ही एडमिशन दिया जाता है. लेकिन अब यूजीसी ने इंटरव्यू हटा दिया है.

बता दें,  साल 2016 में UGC ने रेगुलेशन के तहत Ph.D या M.Phil में एडमिशन के लिए 70 फीसदी अंक की लिखित परीक्षा एग्जाम और 30 फीसदी अंक का इंटरव्यू का होता था. लेकिन अब इंटरव्यू को हटा दिया गया है. वहीं इंटरव्यू के हट जाने के बाद साफ है कि एडमिशन लिखित परीक्षा में पास होने के आधार पर दिया जाएगा.

यूजीसी ने SC/ST/OBC कैटेगरी के छात्रों के लिए 5 फीसदी अंकों की छूट दी है. इसी के साथ जनरल कैटेगरी के छात्रों को 50 फीसदी अंक लाने होंगे और रिजर्व कैटेगरी के छात्रों को 45 फीसदी अंक लाने होंगे. जिसके बाद ही Ph.D और M.Phil में एडमिशन दिया जाएगा.

पहले सिर्फ इंटरव्यू के आधार पर मिलता था एडमिशन

साल 2016 में UGC ने रेगुलेशन की जिस प्रक्रिया को अपनाया था उसमें छात्रों को एडमिशन लेने के लिए पहले लिखित परीक्षा देनी होती थी जिसमें 50 फीसदी मार्क्स लाने के बाद छात्र इंटरव्यू के लिए क्वालीफाई होता था. वहीं अंत में एडमिशन सिर्फ इंटरव्यू के आधार पर ही दिया जाता था. आपको बता दें, यूजीसी की ओर से जारी इस नए नियम को पालन सभी यूनिवर्सिटी को करना होगा.

बता दें, UGC ने ये फैसला SC, ST और OBC कैटेगरी के छात्रों के विरोध के बाद किया है. उन छात्रों का मानना था कि सिर्फ इंटरव्यू के बेस पर एडमिशन की वजह से उनके साथ भेदभाव किया जा रहा है.