उत्तराखंड पुलिस में SI पद पर तैनात गगनदीप सिंह की इन दिनों चारों तरफ से वाहवाही हो रही है. दरअसल गगनदीप सिंह ने बीते मंगलवार को लव जिहाद के नाम पर हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा एक मुस्लिम युवक की पीट-पीटकर हत्या किए जाने से उसे बचा लिया. घटना नैनीताल के रामनगर में स्थित मशहूर गर्जिया मंदिर की है.

बीते मंगलवार को यहां मिलने के लिए आए एक प्रेमी जोड़े को हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ताओं ने घेर लिया. जब उन्हें पता चला कि युवक मुस्लिम है और लड़की हिंदू तो वे युवक को मारने पर आमादा हो गए. लड़की ने जब विरोध करने की कोशिश की तो उसे भी काटकर फेंकने की धमकियां दी गईं.

उग्र भीड़ ने युवक को मारा-पीटा. हिंदूवादी संगठन के कुछ भगवाधारी कार्यकर्ता युवक को जान से मारने पर आमादा ही थे. भीड़ उसे पकड़कर मारने ले ही जा रही थी कि तभी वहां सब इंस्पेक्टर गगनदीप सिंह पहुंचे और उन्होंने मुस्लिम युवक को भीड़ से छुड़ा लिया.

पुलिस के आ जाने के बावजूद भीड़ युवक को बार-बार मारे जा रही थी. वहीं गगनदीप सिंह भीड़ की पिटाई से बचाने के लिए युवक को अपने सीने से चिपका लेते हैं. इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है.

इस वीडियो को जो भी देख रहा है वह गगनदीप सिंह की तारीफ कर रहा है. गगनदीप सिंह धर्म से सिख हैं और उन्होंने पुलिस के कर्तव्य का पालन तो किया ही, धार्मिक सहिष्णुता की भी मिसाल कायम की.

दरअसल हिंदूवादी संगठन गर्जिया मंदिर में महिलाओं के नहाने के लिए चेंजिंग रूम बनाए जाने, मंदिर परिसर में गुटखा आदि नशीले पदार्थ की बिक्री पर रोक लगाने और मंदिर परिसर में असामाजिक तत्वो के प्रवेश पर रोक लगाने जैसी मांगों के साथ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे.

विरोध प्रदर्शन के साथ-साथ उन लोगों ने श्रद्धालुओं को मंदिर में दर्शन-पूजन करने जाने से भी रोक रखा था, जिससे दूर-दूर से आए श्रद्धालुओं को भारी परेशानी हो रही थी. लेकिन जब प्रदर्शनकारियों की मांग सुनने कोई प्रशासनिक अधिकारी नहीं पहुंचा तो प्रदर्शनकारी आक्रोशित हो गए.

प्रशासन के न पहुंचने से नाराज धरना दे रहे बजरंग दल और अन्य हिंदूवादी संगठनों के कार्यकर्ताओं ने मंदिर के बगल से बहने वाली नदी किनारे बैठे प्रेमी युगल को पकड़ लिया और उनकी पिटाई शुरू कर दी.

मंदिर के पास डयूटी पर तैनात SI गगनदीप सिंह और एक अन्य पुलिसकर्मी हिम्मत करके बमुश्किल इस आक्रोशित भीड़ से युवक को बचाया. गगनदीप ने युवती को पुजारी के कमरे में ले जाकर बिठाया और युवक को दूसरे कमरे में ले जाकर भीड़ से बचाने के लिए दरवाजा बंद कर दिया.

कुछ देर में पुलिस फोर्स के पहुंचने पर प्रेमी युगल को कोतवाली ले जाया गया. पुलिस ने बताया कि युवक और युवती काशीपुर उधमसिंह नगर के रहने वाले हैं. पुलिस ने प्रेमी युगल के परिजनों को भी कोतवाली बुलाया, जहां लड़की को उसके परिजनों को सौंप दिया गया.