मुंबई : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने कहा कि उन्हें तंबाकू और सुपारी खाने का पछतावा है. उन्होंने कहा कि काश किसी ने 40 साल पहले उन्हें इस आदत पर चेताया होता.

कैंसर का सामना कर चुके पवार भारतीय दंत संगठन (आईडीए) के 2022 तक मुख के कैंसर को खत्म करने के मिशन की शुरुआत के मौके पर बोल रहे थे. पूर्व केन्द्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि सर्जरी और दांत उखाड़ने के कारण उन्हें बहुत परेशानी हुई तथा मुंह खोलने, खाना निगलने और बात करने में भी दिक्कतें हुईं.

उन्होंने कहा कि उन्हें कष्ट है कि लाखों भारतीय अब भी इस संकट में फंसते हैं. उन्होंने समाज में सबसे अपील की है कि लोग तम्बाकू के किसी भी प्रकार के उपयोग से बचें.

तम्बाकू खाने से होने वाले नुकसान, जो शायद नहीं जानते होंगे आप

तम्बाकू खाना सेहत के लिए हानिकारक होता है, ये तो आप सभी जानते हैं. तम्बाकू का ही एक रूप होता है गुटखा, जिसे कत्था और सुपारी को मिलाकर तैयार किया जाता है. इसके साथ ही एक ऐसा जहरीला कैमिकल मिलाया जाता है जो धीरे-धीरे असर करता हुआ मुंह से लेकर बॉडी दूसरे जरूरी अंग पर प्रभाव करता है.

वैसे तम्बाकू खाने से कैंसर होता है और ये बात हर आदमी जानता है लेकिन इससे ऐसी बहुत सी बीमारियां हो जाती हैं जिसका अंदाजा भी आपको नहीं होगा अगर है तो आज ही आप तम्बाकू छोड़ दीजिए. चलिए बताते हैं तम्बाकू खाने के नुकसान..

लगातार गुटखे या तम्बाकू का सेवन आपके दांत को ढीले और कमजोर बना देते हैं. बैक्टीरिया दांतों में जगह बना लेते हैं जिससे दांतों का रंग बदलने लगता है और धीरे-धीरे दांत गलने भी लगते हैं.

शरीर के एंज़ाइम्स पर भी तम्बाकू बुरा प्रभाव डालता है. इसके अलावा गुटखे में कई तरह के नशीले पदार्थों का मिश्रण होता है जिसकी वजह से शरीर के एंज़ाइम्स पर बुरा असर पड़ता है. शरीर के हर अंग में साइप-450 नाम के एंजाइम पाए जाते हैं जो हार्मोंस के उत्पादन में मुख्य भूमिका निभाता है.

तम्बाकू या गुटखा लगातार खाने वालों की जीभ, जबड़ों और गालों के अंदर सेंसेटिव सफेद पेच बनने लगते हैं और उसी से मुंह में कैंसर की शुरुआत होती है. जिसके बाद धीरे-धीरे मुंह का खुलना बंद हो जाता है और मुंह में कैंसर फैल जाता है.

गुटखा या तम्बाकू खाने से शरीर के हॉर्मोन्स को तो प्रभावित करता ही है साथ में इसे खाने से आपके डीएनए को भी बहुत भारी नुकसान पहंचता है जिसका आपको अंदाजा भी नहीं होता.

तम्बाकू और गुटखे से होने वाला नुकसान जिसे कैंसर कहते हैं वो सिर्फ मुंह तक ही नहीं रुकता बल्कि ये श्वासनली से होता हुआ फेफड़े तक पहुंच जाता है और इससे फेफड़े में भी कैंसर का खतरा बढ़ जाता है.

तम्बाकू और गुटखे की लत इंसान पर बहुत बुरा प्रभाव डालते हैं. यही लत पेट में दर्द और अल्सर जैसी बीमारियां शुरु हो जाती है. इसके साथ ही तम्बाकू खाने से एसिडिटी की शिकायत होना भी लाजमी हो जाता है.

तम्बाकू और गुटखे की लत महिलाओं को भी बहुत जल्दी लग जाती है. जब महिला प्रेग्नेंट होती हैं और उस समय महिला कोई भी नशीला पदार्थ का सेवन करती हैं तो उसका असर सीधे बच्चे पर पड़ता है.

एक Research में बताया गया है कि गुटखा और तम्बाकू खाने से सिर्फ कैंसर जैसी ही बड़ी बीमारी नहीं होती बल्कि इससे सेक्स लाइफ पर भी असर करता है.

Tambaku खाने से आपको कुछ देर की संतुष्टि तो मिल जाएगी लेकिन जिंदगी में आप बहुत कुछ खो देते हैं. लेकिन इसे खाने से आपके अपनों पर भी असर पड़ता है. तो हो सके तो अनपे लिए नहीं, अपनों के लिए ही सही तम्बाकू या कोई भी हानिकारक पदार्थ का सेवन करना बंद कर दें.