फेक अकाउंटसोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर ने मई और जून में सात करोड़ से अधिक फेक अकाउंट बंद कर दिए हैं. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, फेक अकाउंट के जरिए झूठी और सनसनी खबरें फैलाने की वजह से यह कार्रवाई की गई है.

न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की मानें तो राजनीतिक दबाव के बाद फेक अकाउंट्स को बंद किए गए हैं. वहीं, ट्विटर के सूत्रों ने वॉशिंगटन पोस्ट को बताया कि विश्व की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्क साइट्स में से एक ट्विटर ने स्पैम और फेक अकाउंट्स को बंद करने के लिए यह बड़ी कार्रवाई की है.

इसके अलावा आपको बता दें  Twitter की ओर हाल ही में ये जानकारी दी गई है कि कंपनी अपनी सेवाओं में बदलाव करने जा रही है. अब कंपनी वर्ल्ड कप, भूकंप, रॉयल वेडिंग, और इलेक्शन जैसे बड़े इवेंट्स को ज्यादा स्पेस देगी ताकि लोगों को दिलचस्प ट्वीट्स आसानी से मिल सकें.

ट्विटर ने लाइव इवेंट्स और इंस्टैंट न्यूज पर जोर देकर यूजर्स और विज्ञापनदाताओं के साथ खड़े होने की कोशिश की है. वहीं दूसरी तरफ फेसबुक ने फ्रेंड्स और फैमिली के पोस्ट्स के मुकाबले न्यूज को कम प्राथमिकता देना शुरू कर दिया है.

सैन फ्रांसिस्को बेस्ड कंपनी ट्विटर ने बताया कि, वो अपने ऐप में ऐसे बड़े इवेंट्स की नोटिफिकेशन यूजर्स को भेजेगा, जिसमें उनकी रूचि हो. साथ ही कंपनी ट्विटर के सर्च पेज के एक डेडीकेटेड सेक्शन में ऐसे इवेंट्स को प्रमोट भी करेगी.

ट्विटर के प्रोडक्ट के वाइस प्रेसिडेंट कीथ कोलमैन ने संवाददाताओं से कहा, ‘हम चाहते हैं ट्विटर आपके कंधे पर बैठी छोटी चिड़िया हो जो, जब आपको जानना जरूरी हो तब ये बताए कि आपको क्या जानना जरूरी है.’

साथ ही कीथ ने जानकारी दी कि ये प्रमोडेट इवेंट्स ट्विटर के टाइमटाइन पर टॉप में दिखाई देंगे. ये वही जगह है जो स्मार्टफोन पर ट्विटर खोलने पर सबसे पहले नजर आती है.