विधि स्थापित प्रक्रिया का पालन बहुत जरूरी – श्रीमती अनुराधा शंकर सिंह

भोपाल 5 जुलाई । पुलिस मुख्यालय में बुधवार को न्यायलयों में लंबित सेवा संबंधी याचिकाओं में प्रभारी अधिकारी की भूमिका के संबंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गई ।Anuradha shankar 2 इस बैठक में अति.पुलिस महानिदेशक प्रशासन श्रीमती अनुराधाशंकर ने निर्देश दिए कि संबंधी याचिकाओं पर प्रभारी अधिकारियों द्वारा समयबद्ध कार्यवाही सुनिश्चित करें जिससे कि आवमानना की स्थिति निर्मित न हो ।राज्य में बेहतर कानून व्यलस्था की स्थिति को सुनिश्चित करने के लिये यह आवश्यक है कि विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया के अनुरूप पुलिस अधिकारी विभिन्न प्रकरणों में कार्रवाई कर दस्तावेज एवं साक्ष्य न्यायालय में प्रस्तुत करते समय प्रक्रिया का बिशेष ध्यान रखें. श्रीमती सिंह नें पुलिस अधिकारियों को आगाह किया कि न्यायालय की अवमानना से बचना चाहिये ताकि विधि और न्याय- व्यवस्था के अनुरूप कानून व्यवस्था चल सके.

Team
फाइल चित्र – पुलिस मुख्यालय भोपाल


बैठक में प्रदेश के विभिन्न जिलों के प्रभारी अधिकारियों ने भाग लिया । इस दौरान न्यायालयों में लंबित सेवा संबंधी याचिकाओं की स्थिति पर चर्चा की गई । बैठक में विधि , लेखा विभाग , कार्मिक तथा सीआईडी के अधिकारियों ने उपस्थित प्रभारी अधिकारियों को सेवा संबंधी फाइल न्यायालीन प्रकरणों में होने वाली त्रुटि और उसके समाधानों के बारे में बताया । बैठक में बताया गया कि उच्च न्यायालय एवं सर्वोच्च न्यायालय में प्रस्तुत की जाने वाली याचिकाओं में प्रभारी अधिकारी को पूरी तत्परता के साथ कार्य करना चाहिए जिससे लंबित प्रकरणों का समाधान जल्द हो सकें ।
सहायक पुलिस महानिरीक्षक विधि-2 श्री मलय जैन ने एक प्रेसेंटेशन के द्वारा बताया कि किसी प्रकरण में जवाब तैयार करते समय प्रभारी अधिकारी स्पष्ट भाषा का उपयोग करें तथा तथ्यों का पूरी गंभीरता के साथ ध्यान रखें । उन्होंने बताया कि महत्वूर्ण प्रकरणों में प्रभारी अधिकारी को स्टे वैकेट कराने तथा तत्काल सुनवाई के लिए न्यायालय में शासकीय अधिकवक्ता के माध्यम से तत्परता के साथ प्रयास करना चाहिए ।
बैठक में महानिरीक्षक प्रशासन श्रीमती मिनाक्षी शर्मा, सहायक पुलिस महानिरीक्षक विधि-2 इमरीन शाह, सहायक पुलिस महानिरीक्षक कार्मिक श्री महावीर मुजालदे तथा सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्री विकास पाठक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे ।