प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने कैबिनेट में आज फेरबदल कर रहे हैं. कई चेहरों को हटाया जा रहा है तो कई नए लोग मंत्री बनेंगे. मीडिया रिपोर्टस में इसके पीछे काम के आधार पर परिवर्तन और 2019 का चुनाव जैसी वजहें बताई जा रही हैं. लेकिन मंत्रिमंडल के फेरबदल से लोग क्या सोचते हैं और उनपर क्या फर्क पड़ता है? आइए नजर डालते हैं सोशल मीडिया की कुछ दिलचस्प टिप्पणियों पर…

मंत्रियों के फेरबदल पर फेसबुक पर विवेक कॉल यूं तंज सकते हैं- ‘अमिताभ बच्चन की फिल्म में हीरोइन जीनत अमान होती या परवीन बॉबी, इससे क्या ही फर्क पड़ता था? कृपया इसे कैबिनेट में फेरबदल से न जोड़ें.’ विवेक का इशारा कुछ यूं है कि सरकार के सभी प्रमुख काम-काज का मुख्य चेहरा तो नरेंद्र मोदी को ही बनाया जाता है, फिर मंत्रियों के बदलने से उस चेहरे पर क्या फर्क पड़ेगा?

रितेश कुमार यादव @RiteshK8282  ने ट्विटर पर लिखा है- जब ताश की गड्डी में सारे जोकर ही भरे हों, तो बार-बार फेंटने से क्या फायदा. लगता है कि रितेश सरकार के मंत्रियों से खासे नाराज नजर आ रहे हैं.

@raghuvamshi  ने लिखा है कि क्या मोदी-शाह गोरखपुर मौत, रेल एक्सिडेंट और हरियाणा मामले से ध्यान हटाने के लिए ये बदलाव कर रहे हैं.

@Tomorow_hashtag ने लिखा है कि जब फोन काम नहीं करता है तो उसे रिसेट करना पड़ता है, कैबिनेट भी जब काम नहीं कर रहा है तो उसे रिसेट करने की जरूरत होती है. वहीं, कई लोग कैबिनेट में फेरबदल को लेकर अपनी उम्मीदें भी बता रहे हैं. कई लोगों ने मंत्रियों के नाम और उनके मंत्रालयों को गेस करने की कोशिश भी की है.