अगर आप कॉलेज स्टूडेंट हैं और शराब पीने की लत है, तो जरा संभल जाएं. बता दें कि आपकी यह लत आपके वर्तमान को मुश्किल में डाल सकती है.

वैजानिकों की मानें तो शराब पीने से महिलाओं और पुरुषों दोनों पर अलग-अलग तरह के प्रभाव पड़ते हैं. लंबे समय तक शराब का सेवन करने से शरीर में विटामिन बी1 की कमी आ जाती है, जिससे आंखों में कमजोरी और मांसपेशियों को नुकसान होता है.

एक रिसर्च के मुताबिक, महीने में 6 से ज्यादा बार शराब पीने वाले स्टूडेंस को ग्रेजुएशन के दौरान 10 प्रतिशत कम जॉब्‍स मिलीं. ये आंकड़े कॉलेज प्‍लेसमेंट के दौरान दर्ज किए गए थे. ये स्थिति और खराब तब हो जाती है जब स्‍टूडेंट को ब्रिज ड्रिकिंग की लत हो.

बता दें कि यूएस के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन अल्कोहल एब्यूज एंड अल्‍कोहोलिज्म द्वारा महिलाओं द्वारा हर दो घंटे में पांच और पुरुषों द्वारा 6 से ज्यादा बार शराब पीने की लत को बिंज ड्रिंकिंग कहा गया है.

गौरतलब है कि यूएस की कोर्नेल यूनिवर्सिटी, यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन, यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा, यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन ने 827 ग्रेजुएट स्टूडेंट्स पर रिसर्च कर ये पता लगाया कि वेसे तो शराब पीने से इतना फर्क नहीं पड़ता लेकिन जब यह लत बिंज ड्रिंकिंग का रुप ले लेती है तो आपके वर्तमान को खतरे मे डाल सकती है.