gad tragedy report24x7.in

 

  • 3 दिसंबर,1984 की आधी रात को हुए भोपाल गैस हादसे की आज 33वीं बरसी है. ये त्रासदी पूरी दुनिया के औद्योगिक इतिहास की सबसे बड़ी दुर्घटना है. जब यूनियन कार्बाइड की फैक्ट्री  से निकली जहरीली गैस ने हजारों लोगों की जान ले ली थीं.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    2 / 12

    33वीं बरसी पर लोगों ने कफन ओढ़कर भोपाल में राजभवन के सामने प्रदर्शन किया. जहां भोपाल ग्रुप फॉर इंफॉर्मेशन एंड एक्शन के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोग सुबह छह बजे राजभवन के सामने पहुंचे और सड़क पर सफेद कपड़ा (कफन) लेकर लेट गए.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    3 / 12

    यूनियन कार्बाइड की फैक्टरी में टैंक नंबर 610 में जहरीली मिथाइल आइसोसाइनेट गैस के पानी से मिल जाने के कारण करीब 40 टन जहरीली गैस का रिसाव हुआ था.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    4 / 12

    गैस रिसाव के कारण कारखाने के पास स्थित झुग्गी बस्ती सबसे ज्‍यादा प्रभावित हुए थे. ये वो लोग थे जो रोजी-रोटी की तलाश में दूर-दूर के गांवों से आ कर वहां रह रहे थे. इस रिसाव ने महज तीन मिनट में हजारों लोग न केवल मौत की नींद सो गए बल्कि लाखों लोग हमेशा-हमेशा के लिए विकलांग हो गए, जो आज भी इंसाफ के इंतजार में है.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    5 / 12

    इस हादसे से अब तक भोपाल शहर उबर नहीं पाया है. हादसे के दिन सैकड़ों लोगों का सामूहिक अंतिम संस्‍कार किया गया था. हजारों लोगों की मौत हो गई थी और यह दौर अब भी जारी है. आज भी इस हादसे की शिकार लोगों की नई पीढ़ी दुष्परिणामों को भोग रही है.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    6 / 12

    गैस रिसाव के आठ घंटे बाद भोपाल को जहरीली गैसों के असर से मुक्त मान लिया गया था. हालांकि इसका असर अभी भी समाप्‍त नहीं हुआ है.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    7 / 12

    भोपाल गैस त्रासदी ने हजारों परिवारों को समाप्‍त कर दिया था. शहर के दो अस्पतालों में इलाज के लिए आए लोगों के लिए जगह नहीं थी.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    8 / 12

    जहरीली गैस के कारण हांफते और आंखों में जलन लिए जब प्रभावित लोग अस्पताल पहुंचे तो वहां भी डॉक्‍टरों को यह मालूम नहीं था कि इसका क्‍या इलाज हो सकता है.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    9 / 12

    कारखाने के आसपास के अधिकांश लोग नींद की अवस्‍था में ही मौत का शिकार बने. लोगों को मौत की नींद सुलाने में विषैली गैस को औसतन तीन मिनट लगे.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    10 / 12

    सरकारी आंकड़ों के मुताबिक इस हादसे के कुछ ही घंटों के भीतर तीन हजार से ज्‍यादा लोगों की मौत हो चुकी थी. मौत का ये सिलसिला बरसों चलता रहा.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    11 / 12

    यूनियन कार्बाइड कारखाने से निकली जहरीली गैस से तीन हजार से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ दिया था और पांच लाख से ज्यादा लोग बीमार पड़ गए थे. इस दर्दनाक हादसे ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था.

  • जब जहरीली हवा ने हजारों को सुला दिया था मौत की नींद, देखें Photos
    12 / 12

    बता दें, गैस का साइड इफेक्ट इतना अधिक था कि आज भी जन्म लेने वाले बच्चों को कोई ना कोई बीमारी जरूर होती है.