F!महाराष्ट्र में बीते साल अपराध कम हुए फडनवीस नें कानून व्यवस्था पर जताया संतोष

महाराष्ट्र राज्य में बीते साल अपराधों में बहुत कमी आई है. बर्ष २०१६ में इस राज्य में भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत २.६२ लाख प्रकरण दर्ज हुए जबकि स्थानीयकायदा अधिनियम में १.६९ लाख अपराध दर्ज किये गये. बीते बर्षों की तुलना में ४.९७ प्रतिशत अपराध कम हुए है. राज्य विभिन्न आयुक्तालयों के अन्तर्गत ३९.६७प्रतिशत अपराध भारतीय दण्ड संहिंता के अन्तर्गत दर्ज हुए जबकि अकेले मुंबई में ही ये आंकडा.३८.१६ प्रतिशत रहा. मुख्यमंत्री श्री देवेन्द्र फडनवीस नें राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर संतोष जताया है.उन्होंने राज्य के सभी पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों का मनोबल बढाते हुए आव्हान किया कि दृढ इच्छाशक्ति से राज्य को अपराधमुक्त बनाने में अपनी भूमिको को समझें और बेहतर काम करें.A1

नागपुर के चिटनवीस सेंटर में महाराष्ट्र राज्य पुलिस की अपराध अनुसंधान ईकाई के अंतर्गत मुख्यमंत्री नें अपराध अनुसंधान विभाग महाराष्ट्र राज्य पुणे की ओर से महाराष्ट्र में अपराध के बार्षिक आंकडों की विवरण जारी किया गया है.राष्ट्रीय अपराध अनुसंधान की रपट के आधार पर महाराष्ट्र राज्य में अपराध की यह बार्षिकी जारी की गई है. इस बार्षिकी में राज्य भर में होने वाले विभिन्न अपराधों की विवेचना अपराधों के प्रकारों का बिष्लेषण कर अपराधों के नये स्वरूपों का विस्तृत अध्ययन किया गया है. इस मौके पर इस अवसर पर महाराष्ट्र के  गृह राज्यमंत्री श्री दीपक केसरकर ग्रामीण  पुलिस महानिदेशक श्री सतीष चन्द्र माथुर राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह श्री सुधीर श्रीवास्तव गुन्है अन्बेषण विभाग के अपर पुलिस महानिदेशक श्री संजीव कुमार सिंघल उपस्थित रहे नागपुर पुलिस के आयुक्त श्री के वेंकटेशम् सहित अनेक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद रहे. इस कार्यक्रम में एडीजी प्रभात कुमार एडीजी कनकरत्नम भी मौजूद थे.H1 कार्यक्रम में एडीजी संजय कुमार ने आरंभिक उद्बोधन दिया जबकि एडीजी श्री संजीव कुमार सिंघल नें अपने संभाषण में नये एप्प के बारे में बताया. उन्होंने राज्य की अपराध बार्षिकी के आंकडों पर चर्चा करते हुए बताया कि अपराधों में बीते बर्षों की तुलना में कमी आई. जोहत्या के मामलों में ८.४ प्रतिशत दरोडा के मामले में १६.३ जबरी चोरी के मामले में २९.६ मालमत्ते गुन्है के मामले में७.३९ प्रतिशत महिलाओं पर अत्याचार के मामले में.४८ प्रतिशत अनुसूचित जाति के मामलों में ३.५२ प्रतिशत अनुसूचित जमाती के मामले में १६.५६ प्रतिशत कमी आई है. आर्थिक अपराधों में बर्ष २०१५ की तुलना में ५.२८ प्रतिशत कमी ही रही. बर्ष २०१५ में भारतीय दंड संहिता के अन्तर्गत कुल २७५४१४  गुनाह दर्ज हुऐ जो बर्ष २०१६ में २६१७१४ ही रहे जो ४.९७ कम ही रहे जो संतोष की बात है.

B1
एडीजी प्रभातकुमार और एडीजी कनकरत्नम् भी कार्यक्रम में मौजूद रहे.चित्र में नागपुर ग्रामीण के एसपी श्री शैलेष बलकबडे और डीसीपी संभाजी कदम भी दिखाई दे रहे है

अपराध बार्षिकी बर्ष २०१६ में सभी प्रकार के अपराधों जिनमें प्रमुख रूप से २३ विभिन्न प्रकार के अपराधों का अध्ययन किया गया है. इन अपराधों का आपराधिक सर्वेक्षण कर बडे. शहरों में होने वाले अपराध  महिलों पर सामान्य रूप से ङोने वाले अपराध बच्चों पर होने वाले अपराध आर्थिक अपराध वरिष्ठ नागरिकों पर होने वाले अपराध बच्चों द्वारा किये जाने वाले अपराध का बिशेष रूप से अध्ययन किया गया है.C1

D1
कार्यक्रम मेंएडीशनल कमिश्नर श्री एस आर दिघावकर डीसीपी स्मार्तना पाटिल डीसीपी सुहास बाबचे डीसीपी राहुल माकणीकर और डीसीपी रविन्द्र सिंह परदेशी चित्र में दिखाई दे रहे है.

राज्य में हिंसात्मक अपराधों में बर्ष २०१५ की तुलना में ५.९७ प्रतिशत की कमी दर्शाई गई है.जबकि भादवि के अन्तर्गत हुए अपराधों में यही कमीं १३.४ प्रतिशत दर्ज की गई.मालमत्ता और चोरी जैसे अपराधों में ७.४९ प्रतिशत कमी आई जबकि २०१५ की तुलना में अनुसूचित जाति पर अत्याचार के मामले ३.५२ प्रतिशत घटे है. इन आंकडों में अनुसूचित जमती पर अपराध के मामले १६.५६ प्रतिशत घटे है.इस दौरान बताया गया कि जांच और तपास के मामलों में आईपीसी के ६२.३४ प्रतिशत मांमलों में तपास पूर्ण हुई और ५९.५२ प्रतिशत मामलों में आरोपपत्र दाखिल किये गये है.इसी बर्ष ३४.३१ प्रतिशत मामलों में नयायालय मे अपराध साबित हो चुका है.

महाराष्ट्र राज्य में देशभर के कुल अपराध मामलों में से ८.८ प्रतिशत मामले रहे जो पडौ.सी राज्य के ८.९ की तुलना में कम रहे. महाराष्ट्र देशभर में अपराध के मामलों में तेरहवें स्थान पर रहा. जनसंख्या के मान से क्राईम रेट में कमी दर्ज की गई.

N1मुख्यमंत्री फडनवीस ने किया महाराष्ट्र पुलिस का सिटीजन पोर्टल एप्प लांच….

महाराष्ट्र राज्यपुलिस की ओर से महाराष्ट्रपुलिस सिटीजन पोर्टल एप्प मुख्यमंत्री श्री देवेन्द्र फडनवीस नें लांच किया. इस अवसर पर महाराष्ट्र के गृह राज्यमंत्री श्री दीपक केसरकर ग्रामीण  पुलिस महानिदेशक श्री सतीष चन्द्र माथुर राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह श्री सुधीर श्रीवस्तव गुन्है अन्बेषण विभाग के अपर पुलिस महानिदेशक श्री संजीव कुमार सिंघल उपस्थित रहे. www.mhpolice.maharashtra.gov.in पर विविध २४ सेवाये उपलब्ध हैं. इन सेवाओं में प्रमुख सूचाना सेवाओं को उपलब्ध कराने के लिये महाराष्ट्रपुलिस सिटीजन पोर्टल एप्प अंग्रेजी और मराठी भाषा में उपलब्ध कराया गया है.इस एप्प को एनराइड फोन के माध्यम से गूगल प्ले स्टोर में जाकर और आय फोन के लिये iOS एप्प स्टोर के द्वार डाउनलोड किया जा सकता है.

इस एप्प के माध्यम से पंजीकृत होने के बाद नागरिक ई-तक्रार देने पुलिस स्टेशन की समस्तजानकारियां किसी मामले में एफआई आर का ब्यौरा कंप्लैंट की स्थिति एवं कार्रवाई का विवरण गिरफ्तार व्यक्तियों के संबंध में संपूर्ण सूचना सहित अपरिचित मृत व्यक्तियों की पहचान की सूचना  और मिसिंग पर्सन के बारे में जानकारी ली जा सकेगी.

महाराष्ट्रपुलिस सिटीजन पोर्टल एप्प के माध्यम से पुलिस स्टेशन पुलिस अधीक्षक पुलिस आयुक्त कार्यालय में ई-तक्रार या ई- शिकायत दर्ज कराई जा सकेगी. इस प्रकार पंजीकृत होने पर शिकायत की पावती का एसएमएस या ई-मेल प्राप्त होगा.इस पंजीकृत शिकायत का क्रमांक और तक्रार के लिये पुलिस थाने अथवा वरिष्ठ कार्यालय की सूचना मिल सकेगी.

कार्यक्रम में नागपुर शहर पुलिस के संयक्त पुलिस आयुक्त श्री शिवाजी बोडखे अपर आयुक्त श्री दिघावकर बिशेष शाखा के उपायुक्त नीलेश भरणे अपराध शाखा के डीसीपी संभाजी कदम डीसीपी जोनवन स्मार्तना पाटिल डीसीपी राहुल माकणीकर डीसीपी उपाध्याय नागपुर ग्रामीण के पुलिस अधीक्षक श्री शैलेश बलकबडे डीसीपी यातायात श्री रविन्द्र परदेशी डीसीपी ईओडब्ल्यू श्वेता खेडकर सहित अनेक वरिष्ठ एवं कनिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे.कार्यक्रम में आभार प्रदर्शन एसपी‌श्री आनंद रोकडे. नें किया.

M1
कार्यक्रम के दौरान राज्य के अपर मुख्य सचिव गृह से चर्चा करते हुए पुलिस आयुक्त के.वेंकटेशम् और सयुंक्त आयुक्त श्री शिवाजी बोडखे.
K1
एडीजी संजयकुमार और एडीजी श्री सिंघल के साथ अपराध अनवेषण की टीम के अधिकारी कर्मचारी.

 

 

L 1
एडीजी संजय कुमार नें नागपुर के अपराध अन्बेषण के एसपी श्री आनंद रोकडे. और अन्य अधिकारियों व टीम के साथ स्मृति चित्र भी लिया

 Report by – Niraj Omprakash Shrivastava