dhoni

नई दिल्ली.IPL 2018 के ऑक्शन से पहले प्लेयर्स की रिटेंशन सेरेमनी हुई। सेरेमनी में साफ हो गया है कि महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई सुपर किंग्स से ही खेलेंगे। उधर, विराट कोहली और रोहित शर्मा को भी उनकी टीमों यानी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और मुंबई इंडियंस ने रिटेन कर लिया है। इस रिटेंशन सेरेमनी की खास बात ये रही कि कोलकाता नाइट राइडर्स ने पिछले सीजन में टीम के कैप्टन रहे गौतम गंभीर और बेंगलुरू रॉयल चैलेंजर्स ने ओपनर क्रिस गेल को रिलीज कर दिया है। राजस्थान रॉयल्स ने केवल एक प्लेयर स्टीव स्मिथ को रिटेन किया है।

कब है IPL का ऑक्शन?

– इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें सीजन के लिए 27 और 28 जनवरी को बेंगलुरू में खिलाड़ियों का ऑक्शन होना है।

रिटेंशन सेरेमनी क्यों?

– IPL ऑक्शन से पहले 4 जनवरी तक सभी फ्रेंचाइजियों को उन खिलाड़ियों की लिस्ट जमा करनी थी, जिन्हें वे रिटेन करना चाहती हैं।

किन फ्रेंचाइजी ने कितने प्लेयर रिटेन किए, RTM के कितने चांस बचे?

फ्रेंचाइजी डिडक्शन ऑक्शन के लिए बची रकम ऑक्शन के लिए बचे RTM
चेन्नई सुपर किंग्स 15 करोड़ 47 करोड़ 2
एमएस धोनी 15
सुरेश रैना 11करोड़
रवींद्र जडेजा 7 करोड़

कौन से प्लेयर्स रिटेन किए गए?

प्लेयर्स टीम
एमएस धोनी चेन्नई सुपर किंग्स
रवींद्र जडेजा चेन्नई सुपर किंग्स
सुरेश रैना चेन्नई सुपर किंग्स
ऋषभ पंत दिल्ली डेयर डेविल्स
क्रिस मॉरिस दिल्ली डेयर डेविल्स
श्रेयस अय्यर दिल्ली डेयर डेविल्स
विराट कोहली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू
एबी डिविलियर्स रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू
सरफराज खान रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू
रोहित शर्मा मुंबई इंडियंस
हार्दिक पांड्या मुंबई इंडियंस
जसप्रीत बुमराह मुंबई इंडियंस
डेविड वॉर्नर सनराइजर्स हैदराबाद
भुवनेश्वर कुमार सनराजइजर्स हैदराबाद
स्टीव स्मिथ राजस्थान रॉयल्स
सुनील नारायण कोलकाता नाइट राइडर्स
आंद्रे रसेल कोलकाता नाइट राइडर्स
अक्षर पटेल किंग्स इलेवन पंजाब

धोनी की चेन्नई में वापसी का रास्ता कैसे साफ हुआ?

– पिछले महीने IPL की गवर्निंग काउंसिल (GC) की मीटिंग के बाद BCCI के एक्टिंग सेक्रेटरी अमिताभ चौधरी ने कहा था, “हर आईपीएल फ्रेंचाइजी के पास 5 प्लेयर्स को प्री प्लेयर ऑक्शन में दोबारा खरीदने (रिटेनिंग) और राइट टू मैच का ऑप्शन होता है। 2015 में CSK और राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलने वाले प्लेयर्स, जो 2017 में गुजरात लॉयन्स और राइजिंग पुणे सुपरजॉएंट्स की तरफ से खेले थे, उन्हें रिटेन करने का मौका CSK और RR के पास रहेगा।”

चेन्नई और राजस्थान को IPL में खेलने का मौका कैसे मिला?

– IPL में स्पॉट फिक्सिंग 2013 में सामने आई थी। दिल्ली पुलिस की चार्जशीट में बताया गया था कि प्लेयर्स हर ओवर में 14 से ज्यादा रन देने के लिए रुमाल, स्ट्रेचिंग, ब्रेसलेट, लॉकेट या घड़ी के जरिए इशारा करते थे। जांच में श्रीसंथ, अजित चंदीला, अंकित चह्वाण समेत 36 लोगों को दोषी बताया गया था। लेकिन, 2015 में कोर्ट ने सभी को बरी कर दिया।
– जुलाई 2015 IPL फिक्सिंग की जांच के लिए बनी जस्टिस लोढ़ा कमेटी ने चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स की फ्रेंचाइजी को दो साल के लिए बैन कर दिया। CSK के CEO गुरुनाथ मयप्पन और राजस्थान रॉयल्स के ओनर राज कुंद्रा के क्रिकेट से जुड़ी किसी भी एक्टिविटी में ताउम्र हिस्सा लेने पर रोक लगा दी। 2018 में इस बैन की मियाद खत्म हो गई है।

क्या है आईपीएल की प्लेयर रिटेंशन पॉलिसी?
– आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने कहा था कि कोई भी फ्रेंचाइजी प्री-प्लेयर ऑक्शन रिटेंशन (जिसकी लिस्ट 4 जनवरी तक देनी थी) और ऑक्शन के दौरान राइट टू मैच के जरिए कुल मिलाकर पांच से ज्यादा प्लेयर को रिटेन नहीं कर सकती।
– इसे ऐसे समझें कि अगर रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने तीन प्लेयर्स कोहली, डिविलियर्स और सरफराज खान को प्री-प्लेयर ऑक्शन में रिटेन किया है तो यह टीम अब ऑक्शन के दौरान राइट टू मैच के जरिए दो और प्लेयर्स को रिटेन कर पाएगी।
– अगर किसी टीम ने एक भी प्लेयर को रिटेन नहीं किया है, तब भी वह ऑक्शन के दौरान राइट टू मैच के जरिए ज्यादा से ज्यादा 3 प्लेयर्स को ही रिटेन कर पाएगी।

प्री-ऑक्शन रिटेंशन में कितना था सैलरी कैप?
– प्लेयर रिटेंशन प्राइस गाइडलाइन के मुताबिक 3 प्लेयर्स को प्री-ऑक्शन में रिटेन करने पर सैलरी कैप 33 करोड़ रुपए रखा गया था। अगर दो प्लेयर्स रिटेन किए जाते तो 21 करोड़ और एक प्लेयर पर 12.5 करोड़ रुपए सैलरी कैप रहता।
– हर स्क्वैड में मैक्जिमम 25 प्लेयर्स रह सकते हैं। इनमें 8 विदेशी खिलाड़ी रख सकते हैं। मिनिमम 18 प्लेयर्स रखे जा सकते हैं।

क्या है राइट टू मैच?
– आईपीएल ऑक्शन के दौरान अगर किसी प्लेयर पर उदाहरण के लिए 5 करोड़ की बाेली लगती है तो फ्रेंचाइजियों के पास राइट टू मैच कार्ड का इस्तेमाल कर उस प्लेयर को 5 करोड़ में अपनी टीम में ले सकेगी। ऐसा तभी हो सकेगा, जब वह प्लेयर उसी टीम में रहा हो।
– इसे ऐसे समझें कि अगर ऑक्शन के दौरान क्रिस गेल के लिए 5 करोड़ की बोली लगती है तो रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के पास यह मौका रहेगा कि वह राइट टू मैच कार्ड दिखाकर 5 करोड़ में गेल को अपने ही टीम में दोबारा शामिल कर ले।