55

भोपाल। मध्यप्रदेश में वर्ष 2018 में चुनाव होने वाले हैं, इसे देखते हुए दोनों बड़ी पार्टियां तैयारियों मे जुट गई हैं। एक ओर जहां भाजपा कांग्रेस के बड़े नेताओं को घेरने की कोशिश में दिख रही है, वहीं कांग्रेस की ओर से अब तक सीएम कैंडिडेट का नाम घोषित नहीं किया गया है। जिसके चलते कुछ हद तक कांग्रेस में नाराजगी व्याप्त है।
वहीं चुनाव को ध्यान में रखते हुए पक्ष विपक्ष में लगातार एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस मामले में कांगेस के कई दिग्गज आक्रमक बने हुए हैं। इस पूरी प्रक्रिया के बीच चुनाव जीतने के तरीके को लेकर दिग्विजय सिंह के विधायक पुत्र ने कांग्रेस अध्यक्ष को ही खुली सलाह दे डाली है, जिसकी अब हर ओर चर्चा होने लगी है।

जानकारी के अनुसार कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र और विधायक जयवर्धन सिंह ने एक खुली सलाह दी है। उनका कहना है कि अब समय आ गया है कि कांग्रेस को मिशन 2018 की तैयारियां कर लेनी चाहिए।

साथ ही यह भी कहा कि सबसे पहले कांग्रेस को चुनाव तिथि से तीन से छह महीने पहले उम्मीदवार घोषित कर टिकट देना चाहिए ताकि उम्मीदवार को तैयारी का पूरा समय मिल सके। ज्ञात हो कि कांग्रेस में मप्र के चुनाव को लेकर राहुल गांधी खुद लीड कर रहे हैं। वो मप्र की हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं। इसके लिए उन्होंने एक विशेष टीम भी नियुक्त की है जो मप्र के लिए रणनीति बना रही है।

इतना ही नहीं जयवर्धन सिंह ने यह भी कहा कि गुजरात चुनाव में अगर सही समय पर कांग्रेस उम्मीदवारों को टिकट मिलता तो और अधिक सीटें जीती जा सकती थीं, लेकिन कांग्रेस उम्मीदवार को जनसम्पर्क का बहुत कम समय मिला। वहां से सबक लेते हुए मध्यप्रदेश में चुनाव तैयारी करना चाहिए। मप्र के चुनाव कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण हैं।

जयवर्धन सिंह का कहना है कि उम्मीदवार का चयन करके यदि चुनाव तिथि से 3-6 माह पहले टिकट दे दिए जाएंगे तो कांग्रेस मप्र में जीत हासिल कर सकती है। विधायक जयवर्द्धन ने कहा कि विधायक दल की बैठक में भी ये बात रखी जा चुके हैं। पार्टी आलाकमान को भी अवगत करा दिया गया है ताकि गुजरात जैसी गलती न करते हुए मप्र में जल्द से जल्द उम्मीदवार का चयन कर उसे जीत का लक्ष्य दे दिया जाए।