प्रवीण तोगड़िया

सूरत. विश्व हिंदू परिषद के इंटरनेशनल प्रेसिडेंट प्रवीण तोगड़िया की कार को बुधवार सुबह ट्रक ने टक्कर मार दी। वे सुरक्षित हैं। हादसे के बाद उन्होंने कहा कि ये मेरी हत्या करने की कोशिश थी। बता दें कि इससे पहले वे जनवरी में गायब हो गए थे। 12 घंटे बाद सड़क किनारे बेहोश मिले थे। उस वक्त उन्होंने सीबीआई पर एनकाउंटर करने की साजिश का आरोप लगाया था।

कहां हुआ हादसा?

– प्रवीण तोगड़िया कामरेज से सूरत जा रहे थे। रास्ते में ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी। हादसे के वक्त ट्रक काफी स्पीड में था।

– तोगड़िया ने बताया कि उनकी कार बुलेट प्रूफ थी। शायद यही वजह रही कि मेरी जान बच गई। यह कोई और कार होती तो इसमें मौजूद लोगों में से कोई भी नहीं बचता।

पीछे नहीं थी सिक्युरिटी व्हीकल

– तोगड़िया के मुताबिक, Z प्लस सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत कार के आगे-पीछे सिक्युरिटी के लिए करीब 5 व्हीकल चलते हैं। लेकिन आज एक ही गाड़ी थी।

– तोगड़िया ने गुजरात सरकार पर आरोप लगाया कि गांधीनगर से आदेश के बाद मेरी सिक्युरिटी में कमी की गई। ऐसा क्यों किया गया? इसकी मुझे जानकारी नहीं दी गई।

– पुलिस ने बताया कि ट्रक ड्राइवर को अरेस्ट कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

CBI पर लगाया था एनकाउंटर की साजिश का आरोप

– प्रवीण तोगड़िया 15 जनवरी को रहस्यमय तरीके से लापता हो गए थे। करीब 12 घंटे बाद वो सड़क पर बेहोश मिले थे।

– बाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि सरकार उनका एनकाउंटर कराना चाहती थी, इसके लिए राजस्थान पुलिस का काफिला आया था, लेकिन उन्हें इसकी भनक लग गई थी।

– उनका आरोप था कि वे हिंदू एकता के लिए प्रयास करते रहे हैं, राम मंदिर बनाओ, गौ हत्या बंद करो, कश्मीरी हिंदुओं को बचाओ जैसे मुद्दे पर बात करते रहे हैं इसलिए सरकार उनकी आवाज दबाने की कोशिश कर रही है।