दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन ने मंगलवार को अचानक इस्तीफा सौंप दिया 

दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सलाहकार वीके जैन ने मंगलवार को अचानक इस्तीफा सौंप दिया। वीके जैन ने अपने इस्तीफे के पीछे निजी कारणों को बताया है। साथ ही अपना इस्तीफा दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भेज दिया है। बता दें वीके जैन को पिछले साल सितंबर में दिल्ली अर्बन शेल्टर इंप्रूवमेंट बोर्ड ( DUSIB) के सीईओ पद से रिटायर होने के बाद केजरीवाल का सलाहकार बनाया गया था।

गौरतलब है कि सीएम हाउस में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के बाद केजरीवाल के सलाहकार से पूछताछ की गई थी। जिसमें उन्होंने बताया था कि अंशु प्रकाश से आप विधायकों ने मारपीट की थी। जिसकी वजह से उनका चश्मा भी गिर गया था। इस मामले में पुलिस ने दो आप विधायकों प्रकाश जारवाल और अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार कर लिया था। फिलहाल दोनों विधायक जमानत पर रिहा है।

 

बता दें कि इस मामले में पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस पर बयान बदलवाने के आरोप लगे थे। आप सांसद संजय सिंह ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा था कि वीके जैन जिस वक्त की घटना बता रहे हैं उस वक्त वो वॉशरूम गए हुए थे। इसी के बाद वीके जैन छुट्टी पर चले गए थे। मंगलवार को अचानक उनका इस्तीफे ने सभी के चौंका दिया है। हालांकि वीके जैन ने इसके पीछे निजी और पारिवारिक कारणों का बताया है।

क्या है पूरा मामला? 

दरअसल, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (19 फरवरी) रात को सीएम हाउस में एक मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में आप विधायकों के साथ-साथ चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश भी शामिल हुए थे। इस दौरान आप के दो विधायकों ने चीफ सेक्रेटरी के साथ बदसलूकी की। चीफ सेक्रेटरी को थप्पड़ मारा, धक्का-मुक्की की और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया। इतना ही नहीं, आप विधायकों ने चीफ सेक्रेटरी की कॉलर पकड़ी और उन्हें धक्का भी दिया। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल भी वहां मौजूद थे और ये सब सीएम हाउस में ही हुआ। इस केस में आप विधायक अमानतुल्ला खान और प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार किया गया है।

। वीके जैन ने अपने इस्तीफे के पीछे निजी कारणों को बताया है। साथ ही अपना इस्तीफा दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भेज दिया है। बता दें वीके जैन को पिछले साल सितंबर में दिल्ली अर्बन शेल्टर इंप्रूवमेंट बोर्ड ( DUSIB) के सीईओ पद से रिटायर होने के बाद केजरीवाल का सलाहकार बनाया गया था।

 

गौरतलब है कि सीएम हाउस में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से कथित मारपीट के बाद केजरीवाल के सलाहकार से पूछताछ की गई थी। जिसमें उन्होंने बताया था कि अंशु प्रकाश से आप विधायकों ने मारपीट की थी। जिसकी वजह से उनका चश्मा भी गिर गया था। इस मामले में पुलिस ने दो आप विधायकों प्रकाश जारवाल और अमानतुल्लाह खान को गिरफ्तार कर लिया था। फिलहाल दोनों विधायक जमानत पर रिहा है।

 

बता दें कि इस मामले में पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस पर बयान बदलवाने के आरोप लगे थे। आप सांसद संजय सिंह ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा था कि वीके जैन जिस वक्त की घटना बता रहे हैं उस वक्त वो वॉशरूम गए हुए थे। इसी के बाद वीके जैन छुट्टी पर चले गए थे। मंगलवार को अचानक उनका इस्तीफे ने सभी के चौंका दिया है। हालांकि वीके जैन ने इसके पीछे निजी और पारिवारिक कारणों का बताया है।

क्या है पूरा मामला? 

दरअसल, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार (19 फरवरी) रात को सीएम हाउस में एक मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में आप विधायकों के साथ-साथ चीफ सेक्रेटरी अंशु प्रकाश भी शामिल हुए थे। इस दौरान आप के दो विधायकों ने चीफ सेक्रेटरी के साथ बदसलूकी की। चीफ सेक्रेटरी को थप्पड़ मारा, धक्का-मुक्की की और अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गया। इतना ही नहीं, आप विधायकों ने चीफ सेक्रेटरी की कॉलर पकड़ी और उन्हें धक्का भी दिया। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल भी वहां मौजूद थे और ये सब सीएम हाउस में ही हुआ। इस केस में आप विधायक अमानतुल्ला खान और प्रकाश जारवाल को गिरफ्तार किया गया है।