एफसीआई का पेपर लीकएफसीआई का पेपर लीक

बताया जा रहा है दलालों ने पैसे लेकर एक दिन पहले ही पेपर लीक करा दिया था. इसका खुलासा एसटीएफ भोपाल और ग्वालियर की संयुक्त कार्रवाई में हआ है.

सीबीएसई के पेपर लीक मामले के बाद अब मध्य प्रदेश में एफसीआई का पेपर लीक होने का मामला सामने आया है. इस परीक्षा में हो रहे फर्जीवाड़े का खुलासा एसटीएफ भोपाल और ग्वालियर की संयुक्त कार्रवाई में हआ है. एसटीएफ ने 2 दलाल और 48 अभ्यार्थियों को गिरफ्तार किया है.

बताया जा रहा है दलालों ने पैसे लेकर एक दिन पहले ही पेपर लीक करा दिया था. इसका खुलासा एसटीएफ भोपाल और ग्वालियर की संयुक्त कार्रवाई में हआ है. एसटीएफ ने 2 दलाल और 48 अभ्यार्थियों को गिरफ्तार किया है.

एसटीएफ के एसपी सुनील कुमार शिवहरे ने जानकारी देते हुए बताया कि भोपाल और ग्वालियर की एसटीएफ टीम ने दबिश देकर ग्वालियर के होटल सिद्धार्थ से दिल्ली निवासी 2 दलाल आशुतोष कुमार और हरीश कुमार समेत 48 ऐसे अभ्यार्थियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, जो परीक्षा से पहले से प्रश्न पत्र हल कर रहे थे.

अभ्यार्थियों ने एसटीएफ को पूछताछ में बताया कि पांच-पांच लाख रुपए में ये पेपर प्राप्त होना और यह रुपए परीक्षा में चयन होने पर देना बताया गया है. आरोपियों के पास से हाथ से लिखा हुआ प्रश्न पत्र बरामद किया गया है.

एसटीएफ ने एफसीआई के अधिकारियों को पूरे घटनाक्रम से अवगत करा दिया है. एसटीएफ अब परीक्षा से पहले पेपर लीक करवाने वाले गिरोह की तह तक जाने के लिए मामले की बारीकी से जांच कर रही है. इस गिरोह के तार देशभर में फैले होने की जानकारी भी एसटीएफ को मिल रही है.