ट्विटरट्विटर

ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने कहा कि ऐसी दिक्कतों पर यूजर्स से खुलकर बात करना जरूरी।

ट्विटर के चीफ टेक्निकल ऑफिसर पराग अग्रवाल ने गड़बड़ी को सुलझाने के बाद ब्लॉग पोस्ट में इसकी जानकारी भी दी।

  • कंपनी यूजर्स को पासवर्ड बदलने के लिए पॉप-अप विंडो में मैसेज और सेटिंग्स का लिंक भी दे रही है।
  • कंपनी ने कहा कि इसे पब्लिक डोमेन में लाकर हमने लोगों पर छोड़ा कि वे फैसला ले।

सैन फ्रैंसिस्को. ट्विटर ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए अपने करीब 33 करोड़ यूजर्स से तुरंत पासवर्ड बदलने के लिए कहा है। कंपनी ने अपने आधिकारिक हैंडल से भी इसकी जानकारी दी है। ट्विटर ने कहा है कि हाल ही में उसके सॉफ्टवेयर में एक बग आ गया था, जिसकी वजह से यूजर्स के पासवर्ड असुरक्षित हो गए। हालांकि, कंपनी का दावा है कि इस समस्या को सुलझा लिया गया है। यूजर्स के डेटा से किसी भी तरह की छेड़छाड़ या गलत इस्तेमाल की बात सामने नहीं आई है।

यूजर्स को पासवर्ड बदलने की सलाह
– ट्विटर के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर पराग अग्रवाल ने शुक्रवार को ब्लॉग पोस्ट में बताया कि अब सब कुछ ठीक है। हालांकि, उन्होंने यूजर्स को पासवर्ड बदलने की सलाह दी है।

यूजर्स के पासवर्ड कैसे सुरक्षित करता है ट्विटर
– ट्विटर इसके लिए हैशिंग नाम की एक तकनीक इस्तेमाल करता है। इसके जरिए असली पासवर्ड को एक कोड में बदल दिया जाता है। लेकिन, एक बग की वजह से ट्विटर यूजर्स के पासवर्ड बिना कोड में बदले ही अपने असली स्वरूप में सेव हो रहे थे। इसके चलते हैकर्स को पासवर्ड का पता करने में आसानी हो सकती थी और करोड़ों लोगों का डेटा खतरे में पड़ सकता था। हालांकि, कंपनी ने वक्त रहते ही इस समस्या का पता लगा लिया और उसे ठीक कर लिया।

पासवर्ड बदलने के लिए पॉप-अप विंडो में मैसेज दे रहा ट्विटर
– कंपनी अब यूजर्स को पासवर्ड बदलने के लिए पाॅप-अप विंडो में ही चेंज पासवर्ड का ऑप्शन दे रही है। इसमें बग के साथ सेटिंग पेज पर जाने का लिंक भी दिया गया है। इस पेज पर क्लिक कर के यूजर्स सीधे अपना पासवर्ड बदल सकते हैं।

यूजर्स के लिए सब कुछ जानना जरूरी: ट्विटर सीईओ
– ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने कहा कि हमारे लिए जरूरी है कि हम इस अंदरूनी खराबी के बारे में खुलकर बात करें।
– वहीं, कंपनी के चीफ टेक्निकल ऑफिसर पराग अग्रवाल ने कहा, “हम ये जानकारी यूजर्स के साथ साझा कर रहे हैं, ताकि लोग अपने अकाउंट की सुरक्षा पर जानकारी के साथ फैसला ले सकें। हमें लगता है ये सही चीज है।”